breaking news

रिश्ते -नाते

नारी मन – ” क्या मेरी रजा की जरूरत नहीं थी ?
1

नारी मन – ” क्या मेरी रजा की जरूरत नहीं थी ?

December 29th, 2016 | by admin
वंदना बाजपेयी उफ़ ! क्या दिन थे वो | जब बनी थी तुम्हारी शरीके हयात | तुम्हारे जीवन में भरने को रंग सुर्ख जोड़े... Read more
विद्यार्थी को पतन की ओर ले जाती माता पिता की महत्वाकांक्षा
0

विद्यार्थी को पतन की ओर ले जाती माता पिता की महत्वाकांक्षा

December 22nd, 2016 | by admin
लेखक:- पंकज“प्रखर” कोटा(राज.) प्यारे विद्यार्थियों आपके लिए आज का लेख स्वर्गीय हरिवंश राय बच्चन की निम्न... Read more
बच्चों को कल की तकदीर बनाने के लिए पालन पोषण में रखे कुछ ख़ास बातों का ख्याल
0

बच्चों को कल की तकदीर बनाने के लिए पालन पोषण में रखे कुछ ख़ास बातों का ख्याल

November 29th, 2016 | by admin
– डॉ. भारती गांधी, शिक्षाविद् एवं संस्थापक-संचालिका, सिटी मोन्टेसरी स्कूल, लखनऊ बोया पेड़ बबूल का तो आम... Read more
स्त्री विमर्श का दूसरा पहलू-बहुओं के द्वारा पीड़ित वृद्ध सास ससुर को भी मिले न्याय
0

स्त्री विमर्श का दूसरा पहलू-बहुओं के द्वारा पीड़ित वृद्ध सास ससुर को भी मिले न्याय

November 15th, 2016 | by admin
किरण सिंह ******** एक तरफ समाज की यह बिडम्बना है …!जहाँ दहेज जैसे समस्याओं को लेकर , ससुराल वालों के द्वारा , तरह... Read more
करवाचौथ : रात , इतजार, चलनी,   और चाँद –  प्रेम की सार्वजानिक अभिव्यक्ति की स्वीकृति देती परंपरा
0

करवाचौथ : रात , इतजार, चलनी, और चाँद – प्रेम की सार्वजानिक अभिव्यक्ति की स्वीकृति देती परंपरा

October 19th, 2016 | by admin
वंदना बाजपेयी वैसे तो हमारा देश त्योहारों का देश है |और अनेकों त्योहारों में हर रिश्ते को मान देने के लिए... Read more
कैरियर बनाम बच्चों की ज़िंदगी के साथ खिलवाड़ ?
0

कैरियर बनाम बच्चों की ज़िंदगी के साथ खिलवाड़ ?

October 5th, 2016 | by admin
वंदना देव शुक्ला हमारे यहाँ एक पारंपरिक अवधारणा रही है कि ‘’बड़े’’ प्रायः (हमेशा) सही होते हैं और छोटों को... Read more
अन्तर्राष्ट्रीय वृद्धजन दिवस  पर विशेष -विश्व के अनमोल धरोहर है ‘वृद्धजन’!
0

अन्तर्राष्ट्रीय वृद्धजन दिवस पर विशेष -विश्व के अनमोल धरोहर है ‘वृद्धजन’!

September 30th, 2016 | by admin
– – डा0 जगदीश गाँधी, शिक्षाविद् एवं संस्थापक-प्रबन्धक, सिटी मोन्टेसरी स्कूल, लखनऊ (1) संयुक्त राष्ट्र संघ की 1... Read more
किशोर बच्चे : बढ़ती जिम्मेदारियाँ
0

किशोर बच्चे : बढ़ती जिम्मेदारियाँ

September 17th, 2016 | by admin
डॉ . भारती वर्मा किशोरावस्था ! संधिकाल….. जहाँ बाल्यावस्था जाने को है और यौवन दस्तक दे रहा है। यह ऐसी अवस्था... Read more
हरितालिका तीज : पति -पत्नी के बीच सात्विक प्रेम को बढाता है
0

हरितालिका तीज : पति -पत्नी के बीच सात्विक प्रेम को बढाता है

September 4th, 2016 | by admin
वंदना बाजपेयी विवाह की बस एक गाँठ दो अनजान – अपरिचित लोगोंको एक बंधन में बांध देती है जिसमें तन ही नहीं मन... Read more
रिश्तों को तोडती हैं अवास्तविक अपेक्षाएं
0

रिश्तों को तोडती हैं अवास्तविक अपेक्षाएं

July 24th, 2016 | by admin
मेरे घनिष्ठ मित्र की बेटी निधि और रोहन की शादी हुए अभी एक साल भी नहीं हुआ था की उनके रिश्ते के टूटने की खबर... Read more
Translate »