breaking news

कवितायें

आधुनिक
1

आधुनिक

February 7th, 2017 | by admin
संजय वर्मा “दृष्टी ” क्या जिंदगी आधुनिक हो गई अब कोई नहीं देखता दीवार पर धुप आने का समय पूछने का किसी के पास... Read more
आवारा किस्सो मे याद रहूंगा
1

आवारा किस्सो मे याद रहूंगा

February 7th, 2017 | by admin
रंगनाथ द्विवेदी। जज कालोनी,मियाँपुर जौनपुर। एै दुनिया——————– मै अपने आवारा किस्सो मे याद रहुंगा। किसी... Read more
कितना प्यारा हैं यह शब्द प्रेम
0

कितना प्यारा हैं यह शब्द प्रेम

February 7th, 2017 | by admin
ओमकार मणि त्रिपाठी प्रेम कितना प्यारा हैं यह शब्द प्रेम जिसमे समाया हुआ हैं सुन्दर अनुभूतियाँ , श्रद्धा... Read more
आधुनिक
1

आधुनिक

January 29th, 2017 | by admin
संजय वर्मा ‘दृष्टि ‘ क्या जिंदगी आधुनिक हो गई अब कोई नहीं देखता दीवार पर धुप आने का समय पूछने का किसी के पास... Read more
जब जब ये तिरंगा आसमान को छूते सा लहराता है..
0

जब जब ये तिरंगा आसमान को छूते सा लहराता है..

January 26th, 2017 | by admin
साधना सिंह गोरखपुर जब जब ये तिरंगा आसमान को छूते सा लहराता है । मन पुलकित हो उठता है,आदर से सिर झुक जाता है।।... Read more
लाज अपने देश की सबको बचाना है
0

लाज अपने देश की सबको बचाना है

January 26th, 2017 | by admin
डॉ . मधु त्रिवेदी लाज अपने देश की सबको बचाना है दुश्मनों के आज मिल छक्के छुड़ाना है बार हर मिल कर मनाते प्रव... Read more
आओ, नूतन वर्ष मना लें- हरिवंश राय बच्चन
0

आओ, नूतन वर्ष मना लें- हरिवंश राय बच्चन

January 1st, 2017 | by admin
आओ, नूतन वर्ष मना लें! गृह-विहीन बन वन-प्रयास का तप्त आँसुओं, तप्त श्वास का, एक और युग बीत रहा है, आओ इस पर हर्ष... Read more
जनवरी से लेकर दिसंबर तक के रोमांटिक प्यार की काब्य गाथा-दिसंबर बनके हमारे प्यार की ऐनवर्सरी आई थी
0

जनवरी से लेकर दिसंबर तक के रोमांटिक प्यार की काब्य गाथा-दिसंबर बनके हमारे प्यार की ऐनवर्सरी आई थी

December 31st, 2016 | by admin
रंगनाथ द्विवेदी। जज कालोनी,मियाँपुर जौनपुर। कभी बन सँवर के दुल्हन सी——— मेरे कमरे मे जनवरी आई थी। सच वे... Read more
अलविदा 2016 – ऐ ! जाते हुए साल
0

अलविदा 2016 – ऐ ! जाते हुए साल

December 27th, 2016 | by admin
वंदना बाजपेयी ऐ जाते हुए साल तुम्हीं ने सिखाया मुझे की हर साल 31 दिसंबर की रात को ” happy new year ” कह देने से हैप्पी... Read more
अटल बिहारी बाजपेयी के जन्मदिन पर विशेष – एक बरस बीत गया
0

अटल बिहारी बाजपेयी के जन्मदिन पर विशेष – एक बरस बीत गया

December 25th, 2016 | by admin
एक बरस बीत गया झुलासाता जेठ मास शरद चांदनी उदास सिसकी भरते सावन का अंतर्घट रीत गया एक बरस बीत गया सीकचों मे... Read more
Translate »