breaking news

फिल्म समीक्षा – काबिल

February 10th, 2017 | by admin
फिल्म समीक्षा – काबिल
सिनेजगत
0

काबिल की कहानी है रोहन (ऋतिक रोशन) और सुप्रिया (यामी गौतम) की, जो नेत्रहीन हैं। लेकिन अपनी इसके बावजूद भी दोनों आम लोगों की तरह ही जिंदगी बिताने का सपना देखते हैं। रोहन और सुप्रिया अपनी पहली मुलाकात से एक दूसरे को पसंद करने लगते हैं और जल्द ही दोनों शादी के बंधन में बंध जाते हैं। ये दोनों दुनिया को नहीं देख सकते, लेकिन इनका प्यार ही इनकी सबसे बड़ी ताकत है, जो इन दोनों की अधूरी जिंदगी को पूरा करता है। लेकिन तभी इनकी इस खुशहाल जिंदगी में एक ऐसा भुचाल आता है जो सब कुछ तहस-नहस कर देता है। रोहन और सुप्रिया की जिंदगी ने तुफान तब आता है जब इसमें अमित शेल्लार (रोहित रॉय) की एंट्री होती है, जो एक शहर के एक बड़े नेता माधवराव शेल्लार (रोनित रॉय) का छोटा भाई है। अमित, सुप्रिया के अंधे होने का फायदा उठाकर उसके साथ रेप करता है। लेकिन बड़े नेता का भाई होने की वजह से पुलिस उसका कुछ नहीं बिगाड़ पाती। इसके बाद रोहन और सुप्रिया कानून के झेमेलों में फंस जाते हैं। माधवराव और अमित से परेशान रोहन इनसे बदला लेने के बारे में सोचता है। अब अंधा होने का बावजूद भा रोहन कैसे इतने खतरनाक लोगों का सामना करता है यह देखना वाकई दिलचस्प है। वह कैसे अपने और अपनी पत्नी के साथ हुए अन्याय का बदला लेगा यह देखने के लिए आपको सिनेमाघरों का रुख करना होगा।

संजय गुप्ता ने जिस ढंग से फिल्म का निर्देशन किया है वह वाकई काबिल-ए-तारिफ है। फिल्म देखते हुए आपको ऐसा महसूस नहीं होगा कि यह असलियत नहीं है। फिल्म के लोकेशन्स और बैकग्राउंड की बात करें तो यह भा काफी जबरदस्त है। फिल्म आपको अंत तक बांधे रखने में कामयाब होती है
इस फिल्म में ऋतिक ने एक बार फिर से यह साबित कर दिया है कि वह भी किसी से कम नहीं है। उन्होंने एक नेत्रहीन शख्स का किरदार बखूबी निभाया है। यामी भी अपनी भूमिका के साथ पूरी तरह इंसाफ करती हुई नजर आई हैं। दोनों के बीच इतनी शानदार कैमेस्ट्री नजर आ रही है कि फिल्म देखते हुए आपको इन दोनों से प्यार होने लगेगा। वहीं दूसरी तरफ रोहित रॉय और रोनित रॉय ने भी नेगेटिव किरदारों को शानदार तरीके से पर्दे पर उतारा है।

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »