breaking news

स्‍मृति ईरानी ने किया पीएम नरेंद्र मोदी के ‘रेनकोट’ वाले बयान का बचाव-सदन की कार्यवाही के दौरान हिटलर, मुसोलिनी, गद्दाफी और ‘कुत्‍ता’ जैसे शब्‍दों का प्रयोग करने वाले मानसिकता की बात न करें

February 10th, 2017 | by admin
स्‍मृति ईरानी ने किया पीएम नरेंद्र मोदी के ‘रेनकोट’ वाले बयान का बचाव-सदन की कार्यवाही के दौरान हिटलर, मुसोलिनी, गद्दाफी और ‘कुत्‍ता’ जैसे शब्‍दों का प्रयोग करने वाले मानसिकता की बात न करें
राष्ट्रीय
0

केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्‍मृति ईरानी ने पीएम नरेंद्र मोदी के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर दिए गए ‘रेनकोट’ वाले बयान का बचाव किया है। पीएम नरेंद्र मोदी ने बुधवार को राज्‍यसभा में विपक्ष पर हमला बोलते हुए पूर्व पीएम पर टिप्‍पणी की थी। कांग्रेस द्वारा नोटबंदी को संगठित और कानूनी लूट का उदाहरण बताए जाने पर पलटवार करते हुए मोदी ने कहा कि ‘मनमोहन सिंह के प्रधानमंत्रित्व काल में इतना सब कुछ हुआ, लेकिन उनके ऊपर कोई दाग तक नहीं लगा और बाथरूम में रेनकोट पहनकर नहाने की कला डॉ. साहब ही जानते हैं और कोई नहीं जानता।’ कांग्रेस नेताओं की ओर से इस पर तीखी प्रतिक्रियाएं आ रही हैं। सोशल मीडिया पर भी पीएम मोदी को इस बयान के लिए कई लोगों के कोपभाजन का शिकार होना पड़ा। स्‍मृति ने एक के बाद एक ट्वीट कर कांग्रेस पर पलटवार किया। उन्‍होंने कहा कि ”जिन लोगों ने लगातार देश के सम्‍मान के साथ खिलवाड़ किया है, वे आज लोकतंत्र के ‘रक्षक’ के भेस में पीएम पर हमला कर रहे हैं।”
स्‍मृति ने कांग्रेस पर बहस का स्‍तर गिराने का आरोप लगाते हुए पीएम मोदी के लिए पूर्व में इस्‍तेमाल किए गए विशेषणों पर आपत्ति जताई। उन्‍होंने कहा, ”प्रधानमंत्री के लिए सदन की कार्यवाही के दौरान हिटलर, मुसोलिनी, गद्दाफी और ‘कुत्‍ता’ जैसे शब्‍दों का प्रयोग करना कांग्रेस की मानसिकता को दर्शाता है। भारत के एक नागरिक के तौर, सदन में कांग्रेस द्वारा बहस के स्‍तर को इतना ज्‍यादा गिराया जाता देख तकलीफ होती है।” कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांध ने पीएम के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए ट्विटर पर लिखा, ‘प्रधानमंत्री ने किसी और तुलना में कहीं ज्यादा खुद ही पद की गरिमा की गिराई है, आज के घटनाक्रम दुखद, स्पष्ट रूप से शर्मनाक हैं।’ स्‍मृति ने राहुल को भी करारा जवाब दिया है।

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »